51+ Haryanvi shayari - Haryanvi shayari in hindi


Haryanvi shayari in hindi


छोरी की #हासी अर कुत्ते की #खामोसी, प कदे भरोसा नी करना चाहिए। 

बदले कोन्या हाम, बस दुनिया न जान गए।

 

लड़की पैदा करना कोई नी चाहता पर बिस्तर पै औरत सब न चाइये । 

मेरे खातिर तो तू आज भी मेरी जान है, पर मैडम तू ही बेवफा लिकड़ी..!! 

ज़िंदगी म भोत कस्ट स, फेर भी हाम हरियाणा आळे मस्त स..!! 

सोना बाबू टोहण के चक्कर म्ह, वैरण ने Diamond यार खो दिया!!💑👌

 

गोल गोल मुंह छोटी सी हाईट जमा गच टोरा है।

 अर अच्छे अच्छा ने फेल करा है।छोरा तो छोरा ही ए।

 

इतनी महनत करनी स के एक दिन कह सकू के ड्राइवर 

हेलीकाप्टर काड उस स्कूटी आली के पाछै जाना स। .।

 

इतना ते कोए मरीज बी ,परहेज😏 कोन्या करै, जितना आजकल 😕वा मेरे ते करण लाग्गी


र लाडलो, जब घमंड आन लाग जावै तो एक बार चैनिया का चक्क्र लगा आइयो। …

 थारे त बढ़िया माणसं राख होरे स।


आरा फिल्मों को भी इतनी मुस्किल स्टोरी न होती जितनी मैने मेरे जिंदगी की देखी है। 

Control plus C करका दर्द ना लिखते। हलाता गेल लड़का जिन्दगी जीनी सीखी है।

 

कोण कहवै ह क तेरी खुबसुरती म दम स, दुनिया तने इस खातर देखे स क तेरे यार हम स,,


ज़िद ह तो ज़िद ए सही, पर अपना स्वाभिमान सब त बड़ा स।

 

हाँ, साहब मानू हूँ थोड़े “गरीब” हाँ, पर तेरी ज्यूँ बात -बात पै अपणी 

“औकात” कोनी दिखाते..!!


बदले कोन्या हाम, बस दुनिया न जान गए..!!

 

इतना आराम दवाई ले कै ना होता....! 

जितना तेरे से बात कर के हो जावे है!!😍👌 !


माफ करिए भोले जे किसे का दिल दुखाया हो..! मेरी तो तू ख़ुशी भी उससे ते दे दियो 

जिसकी आंख्या म मेरी वजह ते पाणी आया हो!!😙👌 ।

 

कई बालक न्यू कह सै दुनिया मै सच्चा प्यार ना रहया...! 

रै लाडलो एक बार माँ बाबू काणी लखा कै देखो!😍👌 .


आरा के लगा रखा है के सरकारी मा पढ़निए कीमे नी कर सकदे। 

हम सरकारी आले है थारे बरगा की सलगा का रखा है । बेटे आईटीआई आले है। ।।


दारू तै डर कोनी लागदा डर तो उण ढब्बियां तै लागै है जो पिये पाछै रुक्के मारया करै

 “आई लव यू फलाणी, आई लव यू धिकड़ी”


जिगरे की बात ना कर 💪 पगली, हम तो सेल्फी में भी शेर ही दिखते हैं।

 

खोटे सिक्के काम आगे अर जिसनै खरा सोचु था वे औकात दिखागे


दिल की खामोसी प ना जाइयो……… #

राख क तले कदे कदे #आग भी मिल ज्याया करै।

लड़ल्यो पहलां माँ बाबू के सपने पुरे करलो, प्यार प्यूर तो फेर आप थारे धोरा आजेगा..!!


जो अपनापन दिखाया करै, बाद म वे ए अपनी औकात दिखा दिया करै..!!


वो पिस्टल ही के जो ☠खड़के ना, वो जाट का 😎

छोरा ही के जो किसी की, आँखों में रड़के ना। |


सुण्या आज उसकी आंख्या म आंसू आगे,

 जब वा स्कूल म बालका न बतावे अक महोब्बत नू लिख्या करे!!👍👌


सोना बाबू टोहण के चक्कर म्ह, वैरण ने Diamond यार खो दिया!!💑👌


बेटे पाउडर खाकै हाथी तो बन जावैगा पर शेर जिसा जिगरा कित त लावैगा।


कुछ तो तेरी नज़र कातिल थी … अर कुछ हाम बिगड़े होये थे ए…..


लठ देणे भी सीख लो, हर कोए इज़्ज़त देणं क काबिल ना होया करते।


राम जी चाहे ब्योत कितणा ए माडा दे दिए पर हाथ जोड कै 

एक विनती सै आगला जन्म भी हरियाणा में ऐ दिए


तू भूल ज्या मनैं हक है तनैं पूरा खैर मेरी बात तो अलग है,

 मनैं प्यार करया था तेरे त..!!


जब भी मेरा वक्त बुरा होवै स, तो मेरा दोस्त जरूर साथ देवै स..!! !


जुबान के भून्डे सा दिल के बडे साच्चे सा, 

दोगले मानसा त भौले हम घणे आच्छे सा..!!


घर त बाहर कॉलज जाण खातर वा मँड़ासा मार क लिकड़ी, 
सारी गली उसकै पिच्छै लिकड़ी……सारी हान नाट्या करे थी मेरी मोहब्बत न, 
अर मेरी ए तस्वीर उसकी किताब त लिकड़ी!!👍


अरा दिल के तो साफ है बेसक सकला ते थोड़े काले है।

 आर महरी तो वर्दी न देख का लोग न्यू कहदे है बेटे पंगा न लिए आई टी आई आले है।


मेरे माँ – बापू कह्या करै के परख क बेशक छोड़ दिए पर किसे न बरत क ना छोड़ दिए।


आपणी तो #BAE samsung आली लीड है #छोरियां ते भी घणा #ख्याल राख्या करू✌️


पीठ पीछै बुराई करण आले माणस छाती प वार ना कर सकदे। …

 

 ऐ बबली लौंडिया ! दिल मैं जगह बणाण खातिर, 

टेम की ना भरोसे की जरूरत होया करै!!😍👌


म्हारी तो बोली ए ठाड्डु स, नी बात तो हाम भी लाडां म ए करया करा..!!


छोटी उम्र मा इतना भाईचारा बनालिया जिस दिन मरूंगा समसान मा मेला लगे गा..!!


या जीभ इनसान की सारी हड़िया तुड़वा सका, 

चाणक्य ने रफ कपि मा लिख राख्या है..!!

 

हाम न वे माणस पसंद नी जो चप्पल की ढाल हो, 

साथ तो देवै पर पीछे त कीचड़ भी उछाले जावै..!!


आज कल जिस उम्र मा दिल टूट रे है, 

उस उम्र मा तो म्हारी नटराज की पेन्सिल टूटा करा थी..!!


मेरा बाबू इस टेंशन म रहे जा स या उलाद जाम राखी स अक अलबाद


कोण कहवै ह क तेरी खुबसुरती म दम स,

 दुनिया तने इस खातर देखे स क….. तेरे #यार हम स


अमीर तो कोन्या पर जमीर इसा राख्या सा के इसकी बोली ना लाग सकती कदे।


To Top